in , ,

Agra News:आगरा आप भी हैं पक्षियों की आवाज सुनने के शौकीन , तो आइये सिकंदरा स्मारक

सुबह चार बजे से छह बजे तक सात भाई, तोता और शामा। छह बजे से सात बजे तक मोर, कबूतर, भुजंगा, हुदहुद, महोख, तीतर, बया, मुनिया, शकरखोरा, और नीलकंठ। फिर सात बजे नौ बजे तक मैना व फुदकी की मधुर आवाज सुने । अगर, आपको भी इन पक्षियों की आवाज सुनने का बहुत शौक है। सुबह-सुबह सिकंदरा स्मारक के पास जाए ।

दरअसल, सिकंदरा में मुगल शहंशाह अकबर का मकबरा आगरा के स्मारकों की सूची में जुड़ने और पर्यटकों की दृष्टि से ही नहीं बल्कि प्रकृति की सुंदरता को भी खुद में समेटे हुए है। यही कारण है कि इस पर इंसान, जानवर और पक्षी तीनों प्रजाति फिदा हो जाते हैं। स्मारक परिसर के अंदर भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण की देखरेख वाले उद्यान में विभिन्न प्रजातियों के वृक्ष भी लगे हुए हैं। परिसर के अंत में कई वृक्ष पुराने ज़माने के हैं। उद्यान में कृष्ण मृगों की काफी संख्या मिलती है और वृक्षों पर अलग-अलग प्रजाति के पक्षियों के घौसले बने हुए हैं। ये पक्षी रात अपने घौसलों में गुजारते हैं और दिनभर भोजन की तलाश में इधर-उधर चले जाते हैं। यहां सुबह चार बजे से चहचहाट शुरू हो जाती है। शाम तक कई दर्जन पक्षियों की आवाज सुनने को मिलती है। सुबह को जैसे-जैसे पक्षी घौसले से निकलते हैं। वैसे-वैसे स्मारक की दीवारों पर बैठकर सुरीली आवाज से रू-ब-रू कराते हैं। फिर स्मारक के पीछे के हिस्से में खेतों में भोजन की तालश में जुटते हैं।

What do you think?

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0
government-will-give-subsidy-to-farmers-on-planting-guava-and-kinnow

Agra News:आज से खरीदा जाएगा किसानों का गेहूं, आगरा में सरकारी केंद्र हुए तैयार

auto-driver-rapes-noida-girl-who-visits-agra-to-meet-her-friend

Agra News:प्रेमिका ने प्यार में बदल लिया मजहब, फिर भी दगा दे गया प्रेमी